स्वामी आत्मानंद वाचनालय

ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता पैदा करने तथा सामयिक घटना एवं शासकीय योजनाओं की उचित जानकारी ग्राम पंंचायत स्तर पर पहुचाने के उददेश्य से प्रदेश के प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर कम से कम एक दैनिक समाचार पत्र उपलब्ध कराने का प्रावधान है। इसके अतिरिक्त शिक्षा, सूचना संचार, स्वास्थ्य, स्वरोज़गार, ग्रामीण विकास, व्यापार एवं उधोग, आर्थिक विकास, साहित्य आदि से संबंधित गतिविधियों की जानकारियों हेतु पुस्तकें स्वामी आत्मानंद वाचनालय में संग्रहित रहती है। इस व्यवस्था से ग्रामीणों को समसामयिक जानकारी प्राप्त होते रहती है। स्वामी आत्मानंद वाचनालय की स्थापना का यह भी उददेश्य है, कि शिक्षा के प्रति व्यापक प्रचार प्रसार हो तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पढ़ने लिखने के प्रति लोगों की निरंतर अभिरूचि बनी रहे। स्वामी आत्मानंद वाचनालय के संचालन के लिए पंचायतों को मिलने वाली मूलभूत की राशि से प्रतिवर्ष 5000- रूपये निर्धारित सीमा में व्यय करने का प्रावधान है। वर्तमान मेंं प्रत्येक ग्राम पंचायत में स्वामी आत्मानंद वाचनालय संचालित हो रहे है।